अंतर्राष्ट्रीय प्रादेशिक राष्ट्रीय

प्रयागराज:समाजसेवी अजित कुमार ने ग्लोबल समिट दुबई में किया पूर्वांचल का प्रतिनिधित्व, पूर्वांचल श्री का मिला सम्मान

प्रयागराज:समाज सेवी अजित कुमार ने दुबई में इलाहाबाद की खुशबू बिखेरी है। ग्लोबल समिट व भोजपुरी सम्मेलन में उन्होंने पूरे पूर्वांचल का प्रतिनिधित्व किया। देश-विदेश से आयोजन में पहुंचे करीब 100 प्रतिनिधियों के बीच अजीत कुमार ने वैश्विक पहचान बनाती भोजपुरी भाषा व संस्कृति के हक में आवाज उठाई। साथ ही पूर्वांचली तहजीब से प्रतिनिधियों को रूबरु कराया। समाज सेवा के क्षेत्र में किए गए कामों के लिए उनको पूर्वांचल श्री के पुरस्कार से नवाजा गया।


22-24 अगस्त के बीच दुबई के शेख राशिद ऑडीटोरियम में आयोजित कार्यक्रम के ‘भोजपुरी का वैश्विक परिदृश्य’ विषय पर आयोजित सत्र में बोलते हुए अजीत कुमार ने कहा कि भोजपुरी माटी की महक आज पूरी दुनिया महसूस कर रही है। पूर्वांचल की माटी से निकले लाल आज दुनिया के कोने-कोने में अपना जलवा बिखेर रहे हैं। दुबई में बोल रहे अजीत कुमार ने भारतीय संविधान की आठवी अनुसूची में भोजपुरी भाषा को शामिल करवाने की कोशिशों समेत दूसरे घरेलू मसलों पर बोलने से परहेज किया, लेकिन इशारों-इशारों में ऐसे भोजपुरी कलाकारों को भोजपुरी के लिए काम करने की नसीहत दी, जिनको भोजपुरी भाषा के दम पर ही वैश्विक पहचान मिली है।
इस मौके पर उन्होंने भोजपुर अंचल से निकलकर विदेश में नाम कमा करे भोजपुरी लालों से अपील की कि वह अपने गांव/शहर के विकास में अपना योगदान दें। इसके लिए उन्होंने आयोजक उदेश्वर सिंह का उदाहरण भी दिया, जो बिहार की अपनी मातृभूमि पर स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतरीन काम कर रहे हैं। बाकी एनआरआई को उनसे सीखने की सलाह दी।
बुधवार तड़के दुबई से इलाहाबाद पहुंचे अजीत कुमार ने वरिष्ठ पत्रकार विकास राय से बताया कि असल भारतीयता वहीं दिखती है। जाति धर्म क्षेत्र से परे हटकर भारत से गया हर व्यक्ति अपने को भारतीय मानता है। पूरी यात्रा का जो सुखद पक्ष रहा वो दुबई के लोगों का अपनापन रहा। वहां हिन्दू, मुसलमान, सिख आदि जैसी कोई दीवार नहीं है। दुबई में सिवान से जाकर यूपी एंड बिहार रेस्टोरेंट का संचालन कर रहे बड़े भाई कृष्णप्रताप सिंह का प्रेम मिला। सहजादे खान, नदीम, मनोज मिश्र, राजीव राजपूत ,प्रवीण सिंह जैसे दुबई में रहने वाले तमाम भारतीयों के दिल से हर वक्त भारत की बात ही निकलती थी।