ताज़ा खबर

महादेवा मन्दिर में काशी के ही तर्ज पर बड़े ही धूमधाम मना रंग भरी एकादशी

मुहम्मदाबाद/गाजीपुर:प्रेम और एकता का प्रतीक माने जाने वाला त्यौहार होली का पर्व रंगभरी एकादशी से लेकर बुढ़वा मंगल तक मनाया जाता है पूर्वी उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में जो लहरी काशी के नाम से विख्यात है रंगभरी एकादशी का त्यौहार काशी के ही तर्ज पर बड़े ही धूमधाम और आस्था के साथ मनाया जाता है इस अवसर पर धारानगर मोहम्दाबाद स्थित स्वयंभू शिवलिंग सोमेश्वर नाथ परिसर में जनपद के दूर-दूर से हजारों भक्त आकर रंग अबीर भगवान को चढ़ाने के बाद एक दूसरे को लगाकर प्रेम और एकता का संदेश देते हैं तथा सामूहिक रूप से कई टोलिया होली फाग गायन की शुरुआत करते हैं।

यह क्रम आज ही से प्रारंभ होकर होलिका दहन होली एवं उसके बाद आगामी मंगलवार अर्थात बुढ़वा मंगल तक चलता है प्रेम और एकता का संदेश देने वाले इस रंगभरी एकादशी के त्यौहार लोग बड़े ही धूमधाम के साथ मनाते हैं ऐसी मान्यता है कि शिवरात्रि के बाद रंगभरी एकादशी के दिन ही भगवान भोलेनाथ का गवना संपन्न हुआ था और मां पार्वती कैलाश पधारी थी इसी खुशी में भक्तगण एक दूसरे को रंग अबीर लगाकर खुशी मनाते हैं।

रंगभरी एकादशी की इस अवसर पर आचार्य पंडित अभिषेक तिवारी के नेतृत्व में सैकड़ों श्रद्धालु श्रद्धालुओं ने फूल मालाओं गंध पुष्प एवं रंग अबीर से भगवान भोलेनाथ का अभिषेक किया तथा बैजलपुर मोहम्मदाबाद बालापुर आदि विभिन्न गांव की टोलियां के लोग देर रात्रि तक फाग गायन करते रहे इसमें जनपद के कोने-कोने के अलावा अन्य जनपदों से आए श्रद्धालु भी भगवान भोलेनाथ का दर्शन कर अभिभूत हुए इस अवसर पर हजारों श्रद्धालुओं को प्रसाद रूप में भोजन प्रसाद भी सोमेश्वर नाथ महादेव मंदिर की ओर से प्रदान किया गया जिसमें अभिषेक तिवारी के अलावा अमर काका रामजी रायगोपाल सिंह यादव राजेश राय पिंटू सरदार गुरुचरण सिंह विनय गुप्ता एवं टोनी वर्मा आदि का विशेष योगदान रहा है।