ताज़ा खबर

यूपीपीएससी में चयनित नजरे आलम के गांव फखनपुरा में जश्न का माहौल

भांवरकोल/गाजीपुर :क्षेत्र के फखनपुरा गांव के मुहम्मद नजरेआलम का चयन उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा आयोजित पीसीएस परीक्षा 2020 में श्रम प्रवर्तन अधिकारी पद पर होने की खबर मिलते ही गांव ही नहीं पूरे क्षेत्र में खुशी का माहौल हो गया।

इस मौके पर गाव में सम्मान समारोह आयोजित कर ग्रामीणों ने फूल माला पहनाकर व बुके देकर सम्मानित किया।साथ ही गाजे बाजे के साथ गांव के दो मजार शेख फरीद व पितम्बर दादा के मजार पर जाकर मत्था टेका।इसके पूर्व मजार पर जाते समय सैकड़ो ग्रामीण साथ साथ चल रहे थे।इस मौके पर महिला भी दरवाजे पर खड़ी होकर अपना आर्शीवाद दे रही थी।

हर कोई इस खुशी के माहौल में शिरकत किया। दो वर्ष पूर्व आईएएस में राहुल कुमार गुप्ता की सफलता के बाद इस वर्ष नजरेआलम का पीसीएस में चयन से लोग काफी खुश हैं।नजरेआलम गांव के उस प्रतिष्ठित परिवार से हैं जिसमें शिक्षा के प्रति लोगों में हमेशा रुझान रही है। इनके दादा स्वर्गीय नेसार अहमद इण्टर कालेज मच्छटी में प्रवक्ता उर्दू रहे ।

नजरेआलम के पिता स्वर्गीय डाक्टर इश्तियाक अहमद बी यू एम एस करके चिकित्सा सेवा के माध्यम से समाज सेवा से जुड़े रहे ।वर्तमान में इनके बड़े भाई कामरान सिद्दीकी हिंदी के प्रवक्ता पद पर कार्यरत हैं ।अपने छह भाइयों में सबसे छोटा नजरेआलम ने पी सी एस की परीक्षा में सफलता अर्जित कर यह साबित कर दिया कि परिवार में शिक्षा के प्रति लगाव आज भी है।

नजरेआलम की प्राथमिक व जूनियर तक की शिक्षा गांव के मदरशे से प्राप्त किया। इसके बाद हाई स्कूल की परीक्षा के समय तबियत खराब होने के कारण बोर्ड परीक्षा में थर्ड डिवीजन पास किए तथा इण्टर की परीक्षा एस एम नेशनल इण्टर कालेज मच्छटी सेकेंड डिवीजन से पास किया।इस के बाद स्नातक की उपाधि शहीद स्मारक राजकीय महाविद्यालय मुहम्मदाबाद सेकेंड डिवीजन तथा स्नकोत्तर कानपुर विश्वविद्यालय तथा बी एड आगरा से करने के बाद अलीगढ़ में रहकर तैयारी में जुट गए।

नजरेआलम की सफलता की सबसे खास बात यह रही कि यह स्थानीय विद्यालयों व महाविद्यालय से ही स्नातक तक अध्ययन किया।

नजरेआलम ने इस सफलता का श्रेय अपने परिजनों को देते हुए कहा कि यदि लक्ष्य निर्धारित कर उसे प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत की जाय तो सफलता अवश्य मिलेगी। अभिभावकों से अनुरोध किया कि समय रहते अपने पाल्यों पर नजर रखें और बुराइयों से दूर रहने की सलाह देते रहें

।समय बीत जाने पर लड़कों का दोष देने की अपेक्षा उन पर ध्यान देना अच्छा होता है।

इस अवसर पर निवर्तमान प्रधान प्रतिनिधि नदीम प्रधान, इम्तियाज मैनेजर गुफरान सिद्दीकी, आजम सिद्दकी,फरहान सिद्दकी, तौकीर सिद्दीकी, मुन्ना मास्टर, कामरान मास्टर अफाक सिद्दीकी ,दिलशाद सिद्दीकी, इमरोज सिद्दीकी आदि लोग थे।संचालन शिक्षक रब्बानी ने किया।